Thursday, February 22, 2024
Home मध्य प्रदेश इंदौर युवा पीढ़ी को खोखला करता नशे का अवैध साम्राज्य….

युवा पीढ़ी को खोखला करता नशे का अवैध साम्राज्य….

एक ओर जहां विश्व की सबसे युवा आबादी वाला देश होना हमारे लिए गर्व की बात है तो वहीं दूसरी ओर अधिसंख्यक युवा आबादी के एक बड़े तबके का नशे की फितूर में डुब जाना चिंता का विषय है। नशे का फितूर इतना खतरनाक होता है कि वह व्यक्ति को तबतक अपने आगोश में जकड़े रहता है, जब तक की नशे की गिरफ्त में आए व्यक्ति का समूल नाश न हो जाए।

आज बात हो रही है। उड़ता पंजाब की तर्ज पर बन रहे उड़ता इंदौर की जिस तरह से नशाखोरी का साम्राज्य दिनों-दिन अपने पैर पसार रहा है। और आज उसके मकड़जाल में पूरा इंदौर फसते जा रहा है।उसने सूबे की नींद भी उड़ा दी है।

बच्चों में नशे के मामले में मध्यप्रदेश प्रदेश दूसरे नंबर पर….

देश में इरेजर, व्हाइटनर, पंक्चर बनाने का सॉल्यूशन व दूसरे नशीले पदार्थ सूंघकर नशा करने वाले बच्चों की संख्या लगभग 4.50 लाख है। रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड के आसपास समूह बनाकर नशा करते बच्चों को बड़ी आसानी से देखा जा सकता है। लगभग 50 हजार बच्चों के साथ मप्र देश में दूसरे स्थान पर है। इंदौर और भोपाल में नशे के शिकार ऐसे बच्चों की संख्या सबसे ज्यादा है। किशोरवय उम्र वालों में तो यह संख्या बहुत चौंकाने वाली है। सर्वे के मुताबिक नशे की लत के शिकार 10 से 17 वर्ष के 18 लाख किशोरों को तत्काल इलाज की जरूरत है।

इंदौर में हर दूसरे अपराध में नशेड़ियों का हाथ….

इंदौर व्यापार के लिए प्रदेश की राजधानी माना जाता है। नशे के कारोबार में लिप्त आरोपितों के लिए भी यह सबसे बड़ा गढ़ बन गया है। पुलिस की नाकोटिक्स विंग ने ऑपरेशन प्रहार चलाते हुए जनवरी से अब तक करीब 18 करा़ेड रुपए कीमत के मादक पदार्थ कार्रवाई कर जब्त किए हैं। इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि शहर में किस हद तक नशीले पदार्थों की खपत हो रही है। नशे के कारोबार में लिप्त अपराधी स्कूल, कॉलेजों से लेकर शहर की पॉश कॉलोनियों तक को निशाना बना रहे हैं। शहर में बढ़ रहे नशे के कारोबार से अपराधों का ग्राफ भी बढ़ रहा है। शहर में होने वाले अपराधों को आरोपित नशे में ही अंजाम देते हैं। 100 में 80 अपराधों में लिप्त आरोपित ने नशे में ही जुर्म किया होता है। नशाखोरी किसी भी राष्ट्र की नींव को जर्जर व खोखला करने में सक्षम है। समाज में सकारात्मक वातावरण का माहौल उत्पन्न करने के लिए नशे का समूल नाश जरूरी है। बहरहाल नशे को नाश के नजरिए से देखकर इसके सरगनाओं तथा नशे की अवैध तिजारत पर बड़ा एक्शन चाहिए।

स्वप्निल व्यास
लेखक एक पर्यावरणविद, स्वतंत्र पत्रकार एवं सहायक प्राध्यापक है

RELATED ARTICLES

देवास विधानसभा में पिछले तीन दशकों से रहा भाजपा कब्जा, भाजपा ने फिर गायत्रीराजे पर दिखाया भरोसा

पूर्व में किए गए विकास कार्यो को लेकर जनता के बीच जायेंगे- गायत्रीराजे पवारदेवास। जिले की पांचों विधानसभा सीटों पर भाजपा...

रिमझिम बारीश के बीच सीहोर के बाद देवास में निकली सबसे बड़ी कावड़ एवं कलश यात्रा

बोल बम के नारो से गूंजा देवास, करीब 6 किमी यात्रा में सवा लाख से अधिक भक्त हुए शामिलदेवास। श्री सिद्धि...

सोंधी सोंधी सी वो बरसात के पहले की महक, खेत खलिहान बगीचों में वो चिडिय़ों की चहक…..

मासिक काव्यगोष्ठी व नशिस्त में वरिष्ठ एवं युवा कलमकारों ने दी प्रस्तुतियांदेवास। मुहब्बत में वो गाम आएगा एक दिन, मेरे सिर...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment - ---- ---- ---- ---- ----

Most Popular

देवास विधानसभा में पिछले तीन दशकों से रहा भाजपा कब्जा, भाजपा ने फिर गायत्रीराजे पर दिखाया भरोसा

पूर्व में किए गए विकास कार्यो को लेकर जनता के बीच जायेंगे- गायत्रीराजे पवारदेवास। जिले की पांचों विधानसभा सीटों पर भाजपा...

प्रवेश अग्रवाल का काफिला 1 सितंबर को निकलेगा देवास विधानसभा के गांवाें में

जन्मदिवस के उपलक्ष्य में कार्यकर्ताओं के करेंगे मुलाकात, वरिष्ठों का लेंगे आशीर्वाद देवास। नर्मदे युवा सेना के...

रिमझिम बारीश के बीच सीहोर के बाद देवास में निकली सबसे बड़ी कावड़ एवं कलश यात्रा

बोल बम के नारो से गूंजा देवास, करीब 6 किमी यात्रा में सवा लाख से अधिक भक्त हुए शामिलदेवास। श्री सिद्धि...

सोंधी सोंधी सी वो बरसात के पहले की महक, खेत खलिहान बगीचों में वो चिडिय़ों की चहक…..

मासिक काव्यगोष्ठी व नशिस्त में वरिष्ठ एवं युवा कलमकारों ने दी प्रस्तुतियांदेवास। मुहब्बत में वो गाम आएगा एक दिन, मेरे सिर...

Recent Comments

error: Content is protected !!